पत्नी की हत्या कर, दुमका नगर थाना पहुंचा युवक



दुमका नगर थाना में उस समय सनसनी फैल गयी जब टी शर्ट, जैकेट और लुंगी पहने एक आदिवासी युवक ने आकर थाना प्रभारी से कहा कि उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी है। जब नगर थाना प्रभारी ने उससे लाश के बारे में पूछा तो युवक ने बताया कि पत्नी की गला दबाकर हत्या करने के बाद उसने लाश को गोपीकांदर के एक कोयला खदान में फेंक दिया है। उसने सुबह 9 बजे ही पत्नी की हत्या कर दी है। युवक संताली भाषा में बोल रहा था इसलिए थाना प्रभारी देवव्रत पोद्दार ने उसकी पूरी बात समझने के लिए एक आदिवासी पुलिस कर्मी की सहायता ली। नगर थाना पुलिस की सूचना पर गोपीकांदर थाना प्रभारी लाश को बरामद करने के लिए युवक के बताये गये क्षेत्र में रवाना हो गये जबकि पुलिस की एक टीम को दुमका भेजा जो युवक को लकर गोपीकांदर थाना चली गयी।

पुलिस का कहना है कि शव मिलने के बाद ही यह स्पष्ट हो सकेगा कि हत्या हुई है या नहीं। आरोपी पति का नाम शिवधन हांसदा है जबकि उसकी पत्नी 25 वर्षीय सोनामुनी हेम्ब्रम है। शिवधन और सोनामुनी को दो बच्ची भी है। एक छह वर्षीय बहामुनी हांसदा और दूसरी चार वर्षीय अनुप्रिया हांसदा है। शिवधन मूलरूप से गोपीकांदर थाना क्षेत्र के रामपुर गांव का रहने वाला है। वह शादी के बाद ओडमो जंगल टोला अपने ससुराल में घर जमाई बनकर रहता था। शिवधन ने पुलिस को बताया है कि गैर मर्द के साथ संबंध के कारण उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी है। उसने बताया कि उसकी पत्नी एक डंपर चालक से फोन पर बात किया करती थी जिसे न तो उसने देखा और न ही वह उसका नाम जानता है। मना करने के बावजूद उसकी पत्नी डंपर चालक से फोन पर बात किया करती थी जिसको लेकर दोनों के बीच कई बार झगड़ा हुआ था। उसने अपनी पत्नी का मोबाइल छीन लिया था। उसकी पत्नी ने कहा कि मोबाइल नहीं वापस करेगा तब भी वह डंपर चालक से बात करेगी। इस बात पर शिवधन ने अपना आपा खो दिया और अपनी पत्नी सोनामुनी की गला दबा कर हत्या करने के बाद उसकी लाश को जंगल टोला में अवैध कोयला खदान के पास नाले में फेंक दिया। पत्नी की हत्या करने के बाद वह गोपीकांदर पहुंचा और वहां बस पर सवार होकर दुमका पहुंच गया। दुमका में बस से उतर कर वह सीधे नगर थाना पहुंचा और आत्मसमर्पण कर पुलिस को हत्या की पूरी कहानी बतायी। खबर लिखे जाने तक पुलिस सोनामुनी के शव की तलाश कर रही थी।

215 views0 comments