दुमका में संपत्ति के लिए बेटा ने जिन्दा पिता को मार डाला


दुमका। जिले के सरैयाहाट थाना क्षेत्र में वेबसीरिज ‘‘कागज’’ जैसी घटना सामने आयी है। यहां एक युवक ने पुश्तैनी जमीन पर कब्जा जमाने के लिए अपने पिता को ही मृत घोषित कर दिया है। अब पिता 76 वर्षीय बद्री प्रसाद साह खुद को जीवित साबित करने के लिए प्रखंड से लेकर जिला तक फरियाद लगा रहे हैं। बद्री प्रसाद साह ने बताया कि उनके जीवित रहते हुए संपत्ति पर कैसे बेटे का अधिकार कैसे हो सकता है। इसके लिए कानून का दरवाजा खटखटाएंगे।

उसने बताया कि उनका इकलौता बेटा ललन साह उन्हें अपने ही घर में घुसने नहीं दे रहा है। वह कई साल पहले रोजी-रोटी कमाने के लिए दिल्ली गए और वहीं रह गए। गांव के लोगों ने फोन कर बताया कि हाल के सर्वे में पुत्र ललन ने उसे मृत बताकर जमीन के पर्चे में अपना नाम चढ़ा लिया है। उसके बाद गांव आकर पता किया तो बात सच निकली। पुत्र के व्यवहार में भी परिवर्तन आ गया।


अब बेटा पहचानने से इन्कार करते हुए घर में घुसने तक नहीं दे रहा है। मजबूरी में वह गोतिया के घर रहने को मजबूर हैं। उसके पास सरैयाहाट का मतदाता व आधार कार्ड भी है। पिता ने अंचल एवं अनुमंडल कार्यालय में आवेदन देकर न्याय करने की गुहार लगाई है।


193 views0 comments