दुमका में केंद्र सरकार के जनविरोधी नीतियों के खिलाफ राजद ने किया प्रदर्शन



जातीय जनगणना नहीं हुआ तो होगा जोरदार आंदोलन: अमरेन्द्र यादव


दुमका। देश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य वृद्धि, केंद्र सरकार के जनविरोधी नीतियों के खिलाफ और जाति आधारित जनगणना कराने की मांग लेकर राजद जिलाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार यादव के अध्यक्षता में दुमका शहर के वीर कुंवर सिंह चौक पर कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को धरना दिया और रोषपूर्ण प्रदर्शन किया। बाद में राजद कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति के नाम उपायुक्त रविशंकर शुक्ला को ज्ञापन सौंपा। प्रदेश महासचिव सह दुमका जिला प्रभारी दिवाकर यादव ने कहा कि केंद्र सरकार सिर्फ पूंजीपति घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए काम कर रही है। डीजल पेट्रोल रसोई गैस और खाद्य पदार्थों के मूल्य में बेतहाशा वृद्धि होने के कारण महंगाई चरम सीमा पर पहुंच गई है। सह प्रभारी प्रदेश महासचिव गिरेन्द्र यादव ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने महंगाई बढ़ाकर जन विरोधी कार्य किया है। जिलाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार यादव ने कहा कि केंद्र में जब-जब भाजपा की सरकार आती है, महंगाई की मार से जनता कराह उठती है। भाजपा हमेशा पूंजीपतियों के हक की लड़ाई लड़ती है। गरीब गुरुओं के हक और कल्याण से उसका कोई लेना-देना नहीं रहता है। केंद्र सरकार लगातार किसान एवं आम जनों के खिलाफ संसद में बिल लाकर संविधान के साथ छेड़छाड़ कर रही है। महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार बैकफुट पर आ गई है। डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की कीमतों अप्रत्याशित वृद्धि कर जनता की कमर तोड़ दी है। पेट्रोलियम उत्पादों एवं खाद्य पदार्थों की मूल्यवृद्धि जब तक वापस नहीं हो जाता है, राजद का आंदोलन जारी रहेगा। कार्यक्रम में युवा नेता प्रमोद पंडित, युवा जिलाध्यक्ष मोहम्मद अली, सुशील कुमार राय, रामसुंदर पंडित, जयदेव गोराई, लक्ष्मी नारायण राउत, ललित यादव, राजेश रंजन यादव, मनोज कुमार, जुलकर अंसारी, अफरोज आलम, दीपक पासवान, मो आलम, भास्कर पंडित, कुमुद यादव, मो सरवर, अनिल राउत, राजू राय, सुरेश राय, विपिन सोरेन, श्यामलाल टूडू, विजय कुमार राय, मुजफ्फर अली, रूपक कुमार यादव, इसराइल अंसारी, सनत मुर्मू, संतोष मंडल आदि शामिल हुए। मंच संचालन राजद प्रदेश सचिव जितेश कुमार दास ने किया।

52 views0 comments