दुमका में गर्भवती आदिवासी नाबालिग लड़की की हत्या, आरोपी अरमान गिरफ्तार


मृतिका के शव को दफनाने का विरोध, तीन थानों की पुलिस पहुंची

दुमका। दुमका में नही थम रहा नाबालिग लड़कियों का हत्या का शिलशिला। दरिंदगी का एक और मामला सामने आया है। इस बार 14 वर्षीय नाबालिग लड़की की हत्या कर दी गई है। हत्यारे ने मामले को आत्महत्या का रूप देने के लिए शव को पेड़ से लटका दिया था। यह मामला विवि ओपी क्षेत्र के श्रीअमड़ा गांव की है। शनिवार को जब पुलिस जब उसका पोस्टमार्टम कराया तो पता चला कि उसने आत्महत्या नहीं की है बल्कि उसकी हत्या की गई है। यह भी जानकारी मिली कि वह दो माह की गर्भवती थी। पुलिस ने भादवि की धारा 302, 376, 201, एसटी एसी एक्ट और पोक्सो एक्ट की धारा 12 के तहत इस मामले में प्राथमिकी दर्ज की है। इस पूरे मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी युवक को अरमान अंसारी को गिरफ्तार कर लिया है। वह राज मिस्त्री का काम करता है जबकि जानकारी के मुताबिक मृतका मजदूरी का काम करती थी। आरोपी को रविवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। इस बीच गर्भवती नाबालिग की हत्या को लेकर राजनीति तेज हो गयी है। शनिवार की देर शाम जहां एक ओर नाबालिग के शव को दफनाने के लिए रानीश्वर के कुचियाडाली गांव में जेसीबी से मिट्टी खोदी जा रही थी तो वहीं दूसरी ओर भाजपा नेता विमल मराण्डी और जिला परिषद सदस्य विमान सिंह इसका विरोध कर रहे थे। विमान सिंह ने हत्यारे को फांसी की सजा देने और पीड़िता के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग की है। दुमका सांसद सुनील सोरेन, पूर्व मंत्री डा लोईस मराण्डी और जिला परिषद अध्यक्ष जोयेस बेसरा भी इस मामले को लेकर रानीश्वर पहुंच गये हैं। मौके पर रानीश्वर सीओ अतुल रंजन भगत, बीडीओ प्रीतिलता मुर्मू और रानीश्वर थानेदार कैंप कर रहे हैं। स्थिति को संभालने के लिए मसानजोर और टोंगरा थानेदार भी पुलिस बल के साथ जमे हुए हैं। जिले से भी अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया गया है। देर शाम दुमका के उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला और एसपी अंबर लकड़ा इस हत्याकाण्ड और उसको लेकर हो रहे विरोध-प्रदर्शन को लेकर रानीश्वर में मृतका के घर पहुंचे।

भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी रविवार को पहुंचेंगे पीड़ित परिवार के घर ।


878 views0 comments