top of page

जिले में डीएलएसए का कानूनी जागरूकता अभियान शरू


दुमका । जिला विधिक सेवा प्राधिकार दुमका की ओर से आजादी के 75 वें वर्षगांठ के उपलक्ष्य विधिक जागरूकता अभियान शुरू किया गया। इस अभियान की शुरूआत प्रधान जिला जज पीयूष कुमार ने साइकिल रैली और प्रभात फेरी रवाना कर किया। प्रधान जिला जज ने हरी झंडी दिखाकर दोनों टीमों को रवाना किया। यह अभियान 02 अक्टूबर से 14 नवम्बर तक चलेगा। दुमका जिले के 10 प्रखंडों के पंचायत एवं गांव स्तर पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार से जुड़े सदस्य लोगों को जागरूक करेंगे। उसके बाद दुमका प्रखंड कार्यालय के सभागार में जागरूकता शिविर की लगाया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में प्राधिकार अध्यक्ष सह प्रधान जज पियूष कुमार शामिल हुए। शिविर का उद्घाटन प्रधान जज पियूश कुमार, एसीजेएम एस एन ठाकुर एवं जेएम वन विजय यादव ने द्वीप प्रज्जवलित कर किया। इस अवसर पर पैनल अधिवक्ता नीरज कुमार दीक्षित, कुमार प्रभात, किरण तिवारी आदि ने निःशुल्क कानूनी सहायता के बारे में बताया। समाज कल्याण पदाधिकारी अनिता कुजूर ने महिलाओं और बच्चों को सरकार से मिलने वाले योजनाओं के लाभ के बारे में बताया। इस अवसर पर प्रधान जज पियूष कुमार ने संविधान में प्रदत्त मौलिक अधिकारों एवं कानूनों को बताया। उन्होंने न्यायपालिका, कार्यपालिका और विधायिक का कार्याे को बतलाया। प्रधान जज ने मोटर दुर्घटना में मिलने वाले मुआवजा, सामाजिक कुरितियां डायन प्रथा, बाल विवाह, भ्रुण हत्या, बाल मजदूरी, एसिड अटैक, महिला प्रताड़ना एवं समलैंगिक समानता का अधिकार आदि को गैर कानूनी बताते हुए कानून में दंड की प्रावधानों को बता जागरूकता कर रोक लगाने को लेकर प्रेरित किया। बीडीओ राजेश सिन्हा ने डीएलएसए के महत्व को विस्तार से बताया। इस अवसर पर पैर से दिव्यांग अनाथ अभिशेक मरांडी को वैशाखी देते हुए आवासीय विद्यालय में पढ़ाई की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया। साथ ही समाज कल्याण पदाधिकारी को अभिशेक की बहन को कस्तुरबा विद्यालय में नामांकन और अभिषेक के मुआवजा को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। इस कार्यक्रम में लॉ कॉलेज के छात्रा प्रिया दŸाा और प्रतिभा एवं मुहम्मद ने संबोधित किया। पुलिस विभाग के साइबर सेल ने विधान सिंह के नेतृत्व में साइबर अपराध पर जानकारी साझा की।

जेल अदालत में एक को किया रिहा

दुमका। गांधी जयंती के अवसर पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार ने केंद्रीय कारा, दुमका में विधिक जागरूकता शिविर सह जेल अदालत का आयोजन किया। जेल अदालत का आयोजन प्राधिकार सचिव विश्वनाथ भगत के अध्यक्षता में आयोजित हुई। जेल अदालत के माध्यम से सीजेएम न्यायालय में वाद निष्पादन को तीन बंदियों का का आवेदन जेल अदालत में समर्पित किया गया। जिसमें से दुमका नगर थाना क्षेत्र के 144/21 यूएस 379, 511 भादवि की धारा के अभियुक्त देवीलाल मरांडी के आवेदन पर विचार करते हुए रिहाई का आदेश सीजेएम धर्मेंद्र कुमार सिंह ने जारी किया। अन्य दो बंदियों के आवेदन पर समयावधि कम रहने के कारण विचार नहीं किया जा सका। इस अवसर पर अधिवक्ता विद्यापति झा, शर्मिला सिन्हा, सुर्यप्रकाश समेत कारापाल आदि उपस्थित थे।


19 views0 comments

Kommentare


Post: Blog2 Post
bottom of page