top of page

विश्वविद्यालय के रवैय्या से पत्रकारों में आक्रोश- डॉ रविकांत सुमन


दुमका । एसकेएमयू में आज राज्यपाल का कार्यक्रम विवि प्रबन्धन के रवैय्या से विवादित हो गया । दरअसल कार्यक्रम में राज्य सरकार के द्वारा मान्यता प्राप्त कई पत्रकारों को भी आमंत्रित नहीं किया गया था । केवल बड़े बैनर के लोगों को बुलाया गया था। खबर यह भी है कि कुछ पत्रकार अपने संस्था के प्रति जबाबदेही को देखते हुए महामहिम के कार्यक्रम में विवि बिना बुलाये चले गए तो उन्हें कार्यकर्म स्थल पर घुसने भी नही दिया गया । बासुकी मेल के संपादक डॉ रविकांत सुमन ने बताया कि विवि के व्यवहार से नाराज कई पत्रकारों ने विवि में आयोजित राज्पाल के कार्यक्रम का बहिष्कार करने की बात कही है। उन्हों ने कहा विवि में मीडिया तक सही से नहीं लिख पाने वाले बन गये है मीडिया प्रभारी तो यही होगा। उन्हों ने यह भी कहा कि सिधो कान्हू विश्वविद्यालय में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का भी कार्यक्रम हुआ है । उस समय भी सभी मीडिया बन्धु को ससम्मान बुलाया गया था ।




डॉ रविकांत सुमन दुमका प्रेस क्लब से जुड़े हुए है वे प्रेस क्लब के चुनाव पदाधिकारी थे । उन्हों ने वटशॉप ग्रुप वेब खबर डॉट कॉम में भी पोस्ट कर घटना की निंदा की है । वही विश्वविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ विनय कुमार सिन्हा ने press SKMU वटशॉप ग्रुप में पोस्ट कर कहा कि "कुछ पत्रकार मित्रों ने जितनी ओछी बात कह दी वह आघारहीन है।बिना यह जाने कि कुछ ही पत्रकारो को बुलाने का निर्णय किसका था। अब 27 वर्षों की नौकरी करने के उपरान्त मीडिया,शहर या हिन्दी कैसे लिखा जाय इसे मैं अब अपने पत्रकार साथी से सीखने का प्रयास करूँगा " हम आपको बता दें कि पत्रकारों में आक्रोश पत्रकारों के वर्गीकरण को लेकर है वही विवी के मीडिया प्रभारी मीडिया शब्द पर के व्याकरणिक त्रुटि पर हुए व्यंग को गम्भीरता से लेकर गुस्साए हुए है ।










230 views0 comments

Kommentarer


Post: Blog2 Post
bottom of page