दुमका के सड़कों पर अवैध उगाही का नंगा नाच, वर्चस्व को लेकर दो गिरोह के सदस्य आपस में भिड़े


मुफस्सिल थाना पुलिस ने दर्ज किया मारपीट का मामला


दुमका में जिला प्रशासन भले ही यह दावा करे कि जिले में पासिंग का कोई धंधा नहीं चल रहा है पर सच्चाई यह है कि पासिंग के धंधे में वर्चश्व की लड़ायी को लेकर मामला मारपीट से लेकर थाने तक पहुंच रहा है। शनिवार को दुमका के रिंग रोड में दो पासिंग गिरोह के गुर्गे ‘‘अपना इलाका’’ होने का दावा करते हुए आपस में भिड़ गये। इस घटना पर पर्दा डालने के लिए पुलिस ने मारपीट की मामूली घटना करार दे रही है। दरअसल दुमका रामपुरहाट मार्ग पर चलनेवाले मालवाहक वाहनों को रामपुर के पास से रिंग रोड के रास्ते पुसारो पुल तक गुजरना होता है। मुफस्सिल थाना और उसके विवि ओपी के अंतर्गत पड़नेवाले रिग रोड में कई साल से भारी वाहनों को पास कराने के लिए खेल चलता रहा है। गिरोह के सदस्य हर बड़े मालवाहक वाहन को टोकन देकर पैसा लेते हैं और फिर उन्हें दुमका की सीमा से बाहर तक पहुंचा दिया करते हैं। बताया जाता है कि पासिंग का धंधा पहले कई अलग-अलग गिरोहों द्वारा चलाया जाता था पर हाल के वर्षों में यहां संगठित रूप से पासिंग का काम एक गिरोह को सौंप दिया गया था जो इस दावे के साथ टोकन जारी करता था कि दुमका जिला में पुलिस तो क्या कोई भी पदाधिकारी टोकन लेनेवाले गाड़ी को हाथ तक नहीं देगा। इस गिरोह ने एक माह पूर्व यहां से काम समेट लिया। बताया जाता है कि यह काम दूसरे गिरोह को सौंप दिया गया है। अब पहले से काम कर रहे गिरोह के सदस्यों और नये गिरोह के सदस्यों के बीच इलाके को लेकर विवाद शुरू हो गया है। शनिवार को बोलेरो सवार बाहरी गिरोह के कुछ सदस्य बीड़ी पत्ता से भरे ट्रक को रोककर चालक को समझा रहे कि अगर इस मार्ग से गुजरना है तो टोकन व रसीद लेनी होगी। इसके बाद उनके ट्रक को जिले में कोई नहीं रोकेगा। तभी दूसरे वाहन से पुराने गिरोह के सदस्य वहां पहुंच गए। दोनों गिरोह के सदस्यों में कहासुनी हुई और इसके बाद शहरी गिरोह के सदस्य ठेकाबाबा निवासी मोहित कुमार ने दूसरे गिरोह के बाबी यादव की पिटाई कर दी। पुलिस ने रविवार को बाबी के बयान पर मोहित के खिलाफ मामला दर्ज किया। हालांकि थाना प्रभारी उमेश राम का कहना है कि पासिग का काम पहले ही बंद करा दिया था। कहासुनी की वजह से मारपीट हुई है।



815 views0 comments