धनबाद जेल भेजे गये पूर्व विधायक संजीव सिंह



दुमका । चचेरे भाई नीरज सिंह की हत्या के आरोप में पांच माह से दुमका केंद्रीय जेल में बंद झरिया से भाजपा के पूर्व विधायक संजीव सिंह को कड़ी सुरक्षा के बीच शनिवार को धनबाद जेल शिफ्ट कर दिया गया। जेल आइजी ने शुक्रवार की सुबह शिफ्ट करने का आदेश जारी किया था। जेल व जिला प्रशासन आखिरी समय तक पूर्व विधायक को धनबाद शिफ्ट किये जाने की कार्रवाई को लेकर अनभिज्ञता जताता रहा।

दोपहर बारह बजे से ही जेल के बाहर धनबाद से पांच कार में सवार होक आए संजीव सिंह के समर्थक केन्द्रीय कारा के गेट के बाहर उन्हें निकाले जाने का इंतजार कर रहे थे। इस दौरान जब पूर्व विधायक संजीव सिंह को धनबाद जेल शिफ्ट करने की जानकारी केन्द्रीय काराधीक्षक सत्येंद्र चौधरी ने दी



राजनीतिक दबाव में संजीव सिंह को 21 फरवरी को धनबाद से दुमका सेन्ट्रल जेल भेज दिया गया था। इसके विरोध में संजीव सिंह के अधिवक्ता ने धनबाद की अदालत में याचिका दायर की थी। न्यायालय ने पूर्व विधायक को धनबाद लाने का आदेश दिया लेकिन आइजी और जेलर आदेश का अनुपालन करने की बजाय उच्च न्यायालय चले गए। 5 जून को हुए सुनवायी में संजीव सिंह की ओर से पूर्व महाधिवक्ता व हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता अजित कुमार ने अदालत को बताया कि विचाराधीन कैदी को किसी दूसरी जेल में भेजने से पूर्व संबंधित निचली अदालत से इजाजत लेना जरूरी है। लेकिन इस अम्मले में निचली अदालत के आदेश के बिना ही संजीव सिंह को धनबाद जेल से दुमका केंद्रीय कारा भेज दिया गया। कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था और दो सप्ताह पूर्व संजीव के पक्ष में फैसला सुनाया था। न्यायालय ने दो सप्ताह के अंदर संजीव सिंह को पुनः धनबाद जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया था।



126 views0 comments