महाअष्टमी पर दुर्गा मंदिरों में उमड़ी भक्तों की भीड़, आधा दर्जन महिला श्रद्धालुओं की हुई चेन चोरी


दुमका। कोरोना को लेकर जारी एसओपी के बावजूद बुधवार को महाअष्टमी पर दुर्गा मंदिरों और पूजा पंडालों में काफी संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। शहर के दुर्गास्थान और धर्मस्थान सहित कई पूजा पंडालों में खासी भीड़ देखी गयी। यहां डलिया चढ़ाने के लिए महिलाओं की भीड़ लगी रही। पूजा पंडालों में मास्क का इस्तेमाल भी कम देखा गया। पूजास्थल पर लगातार पारंपरिक ढाक की आवाज के साथ देवी के श्लोक गुंजित हो रहे थे। पूजा को लेकर मुख्य बाजारों में भी चहल-पहल काफी बढ़ी रही एवं खरीददारों की भीड़ व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में लगी रही।

शाम में लोग पूजा पंडालों को देखने के लिए निकले तो जगह-जगह जाम का नजारा देखने को मिला। प्रशासन ने विभिन्न मार्गों पर वाहनों के परिचालन को नियंत्रित करने के लिए मोबाईल बैरिकेट लगाया था। चार पहिया वाहनों के अलावा बड़ी संख्या में टैंपो और ई रिक्सा के परिचालन के कारण ट्रैफिक को नियंत्रित करने में पुलिस कर्मियों को मुश्किल हो रही थी। इस बार पूजा पंडालों के आसपास चाट, भेलपुड़ी, चाईनिज व साउथ इंडियन फूड के स्टाल नहीं नजर आये हलांकि शहर के अलग-अलग जगहों पर लगे ऐसे स्टॉलों पर लोगों की भीड़ देखी गयी।

दो मंदिर में आधा दर्जन महिलाओं की चेन चोरी

एक बालक को पकड़कर पुलिस के सुपुर्द किया

दुमका। महाअष्टमी के मौके पर बुधवार को दुर्गास्थान व धर्म स्थान मंदिर में पूजन के लिए उमड़ी महिलाओं की भीड़ का फायदा उठाते हुए उचक्कों ने आधा दर्जन महिलाओं की सोना की चेन निकाल ली। समिति के सदस्यों ने एक पोखरा चौक के रहने वाले एक किशोर को शक के आधार पर पकड़कर पुलिस के सुपुर्द किया। उससे पूछताछ की जा रही है।

मंगलवार को जवानों ने शहर में मार्च निकालकर लोगों को निर्भीक होकर पूजा करने का संदेश दिया था। बावजूद इसके चेन चोरों ने पुलिस की सारी सुरक्षा व्यवस्था को धता बताकर आधा दर्जन महिलाओं के गले से चेन छीन ली। चोरी के बाद समिति के सदस्य लगातार माइक के जरिए प्रचार करते रहे कि अगर किसी को कीीं सोना की चेन गिरा हुआ मिले तो समिति के पास जमा कर दें। शहर के दुर्गा स्थान मंदिर की समिति से तीन महिलाओं ने चेन चोरी होने की शिकायत की। समिति के सदस्य संजय रक्षित ने बताया कि तीन महिलाओं ने चेन छीनने की शिकायत की है। वहीं धर्मस्थान मंदिर से भी तीन महिलाओं की चेन चोरी कर ली गई। समिति के सदस्य दीपक स्वर्णकार ने बताया कि तीन महिलाओं ने चेन छीनने की शिकायत की है। यह सब अष्टमी पर हुआ है। अगर पुलिस की सुरक्षा का यही हाल रहा तो नवमी व दशमी को कई महिलाओं को चेन से हाथ धोना पड़ सकता है। तीन महिलाओं ने नगर थाना में शिकायत की है। बावजूद इसके पुलिस ने तीन महिलाओं से केवल चेन गुम होने का मामला दर्ज करवाया गया है। थाना प्रभारी देवव्रत पोददार ने चोरी की बात से साफ इंकार कर दिया। उनका कहना है कि उन्हें चेन चोरी या गुम होने की कोई जानकारी नहीं है।

पूजा पंडालों में कोविड गाइड लाइन की धज्जियां उड़ी

दुमका। बुधवार को महाअष्टमी पर ही लोगों ने सारी गाइडलाइन की धज्जियां उड़ा दी। जबकि अभी नवमी व दशमी बाकी है। जिला प्रशासन ने कोविड-19 के नियमों का पालन करने के लिए बाकायदा दिशा निर्देश जारी किए थे। उपायुक्त और एसपी ने इसके लिए बैठक की। डीसी के निर्देश पर सिविल सर्जन बच्चा प्रसाद सिंह ने शहर के 20 पूजा समितियों को एक हजार मास्क, एक लीटर सैनिटाइजर व जागरूकता संबंधी तीन बैनर भी दिए थे।

जिले के सभी 15 थाना में शांति समिति की बैठक कर लोगों को नियमों का पालन करने का निर्देश जारी किया गया। चेतावनी दी गयी थी कि जो पूजा समिति नियमों का पालन नहीं करेगी, उसके सदस्यों पर कार्रवाई की जाएगी। लेकिन अष्टमी पर सारे नियमों की धज्जियां उड़ गई। पूजा समिति दिखावे के लिए मास्क आदि रखे हुए थी लेकिन किसी को दिया नहीं गया। यहां तक माइक के जरिए लोगों से मास्क पहनने की अपील तक नहीं की गई। लोगों ने भी सारे नियमों को ताक पर रखकर पूजा-अर्चना की। इतना ही नहीं, नियमों का पालन कराने वाले पुलिस पदाधिकारी भी बिना मास्क लगाये डयूटी करते देखे गये।





36 views0 comments