राजनीतिक मंचों से गावँ तक पहुंचा गया विश्व आदिवासी दिवस



ग्रामीण क्षेत्र में आदिवासी दिवस पर क्वीज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया


दुमका। विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर जिला से लेकर प्रखण्ड तक विभिन्न संगठनों और राजनीतिक दलों ने शनिवार को कार्यक्रम आयोजित किये। विश्व आदिवासी दिवस आज से कुछ वर्ष पूर्व तक सिर्फ राजनीतिक मंच तक ही सीमित थे। शहर के मुख्य चौक पर कार्यक्रम होते थे । पर अब समा बदल गया है विश्व आदिवासी दिवस ग्रामीण क्षेत्र में भी बड़े ही धूमधाम से मनाया जाने लगा है । सरुवा पंचायत के जोगीडीह गावँ में चाँद भैरो मुर्मू जुवान अखाड़ा करमडीह जोगीडीह द्वारा 10 वर्ष के बच्चों के लिए क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। क्वीज प्रतियोगिता में प्रथम सुहागनी मरांडी, द्वितीय स्वीटी मरांडी और तृतीय सोनिया मुर्मू रही। कार्यक्रम की शुरुआत आदिवासियों के सांस्कृतिक गीत तथा संथाल हूल विद्रोह के महानायक सिद्धू कान्हू मुर्मू के तसवीर पर माल्यार्पण के साथ किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में सरवा पंचायत मुखया मंजुलाता सोरेन, हड़वाडीह ग्राम प्रधान संतोष हंसदाक, सरवा पंचायत उपमुख्या विनोद हांसदक, पीटर हेमब्रम, जोन, ग्राम प्रधान जोगीडीह, हिजला के मन्दारिया गाँव के सभी सदस्यों शामिल हुए। कार्यक्रम के अंत में सभी को खिचड़ी खिलाया गया।


एसपी कॉलेज में भी मनाया गया विश्व आदिवासी दिवस



सोमवार 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस के मौके संथाल परगना महाविद्यालय दुमका के परीक्षा भवन में कार्यक्रम का आयोजन किया गया । छात्रों ने विश्वआदिवासी दिवस बहुत ही धूम धाम से मनाए । सभी ने पहले पोखरा चौक स्थित सिदो–कान्हू मुर्मू, एवं फूलो–झानों मुर्मू तथा संथाल परगना महाविद्यालय संस्थापक स्व. लाल हेंब्रम (लाल बाबा) के प्रतिमा में माल्यार्पण किया । छात्रों द्वारा अतिथियों को नाच-गान कर स्वागत किया गया । साथ ही अतिथियों को पंछी ओर पकड़ियों के साथ सम्मानित किया गया । मुख्य वक्ता के रूप में प्रो. सनातन मुर्मू ,संथाली विभागाध्यक्ष संताल परगना महाविद्यालय, दुमका प्रो. प्रतिभा टुड, संथाल परगना b.ed महाविद्यालय, दीपक टुडू अधयक्ष अभियंता संघ ,ओर सहदेव टुडू जामताड़ा ने संताल आदिवासी छात्र छात्राओं को जागृत करते हुए विश्व आदिवासी दिवस की शुभकामनाएं दी । अपने संदेश में उन्हों ने कहा आदिकाल से जल, जंगल, जमीन की रक्षा करने का का श्रेय केवल आदिवसियों को जाता है । साथ ही राज्य, देश और विश्व में आदिवासियों की जनसंख्या में तेजी से कमी आ रही है इस स्थिति पर चिंता भी जताया


शहर के विभिन्न संगठनों ने मनाया विश्व आदिवासी दिवस


दुमका के दिसोम मांझी थान आर जाहेर थान समिति द्वारा दिसोम मांझी बाबा बालेश्वर हेंब्रम की अध्यक्षता में विश्व आदिवासी दिवस धूमधाम से मनाया गया। मुख्य अतिथि जिला शिक्षा अधीक्षक ने कहा कि विश्व आदिवासी दिवस पूरे संथाल समाज के लिए गौरव का विषय है। संथाल समाज की परंपरा को समृद्ध और वैभवशाली बनाने के लिए हम सब की भूमिका सकारात्मक रूप से होनी चाहिए। तभी हम अपनी परंपरा, जल, जंगल, जमीन, संस्कृति और सभ्यता को संरक्षित रख सकते हैं। इस अवसर पर संकल्प लिया गया कि हम अपने समाज को नशा मुक्त बनाएंगे। प्रकृति पूजक होने के कारण पौधारोपण कर अपने पर्यावरण केे संरक्षण पर बल दिया गया। मंच का संचालन मुख्य संरक्षक चंद्र मोहन हांसदा ने किया। मौके पर बैजनाथ हांसदा, कालीचरण हेंब्रम, जनसंपर्क विभाग की प्रेमलता हेंब्रम, झुमरी सोरेन, प्रयास फाउंडेशन के सचिव मधुर सिंह, मुनेश्वर प्रसाद सिंह, समिति के सुरेश चंद्र सोरेन, सुभाष चंद्र सोरेन, रामजीत हेंब्रम, दीपक हेंब्रम, अशोक टाइगर हेंब्रम, सत्येंद्र मुर्मू, राकेश मरांडी, सनातन किसकू, ललित मरांडी, राजेश मुर्मू, अमर मरांडी, राजेश कुमार सोरेन, सीताराम सोरेन, सुधीर मुर्मू, रामप्रसाद हांसदा, राजेंद्र टूडू, मधुसूदन मरांडी, बबलू टूडू आदि मौजूद थे। वही मेलर आदिम जनजाति संघर्ष मोर्चा ने भी विश्व आदिवासी दिवस मनाया जिसमें विभिन्न प्रखंडों से आये कार्यकर्ता शामिल हुए। युवा मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष मनोज राय मेलर ने नगर परिषद चौक स्थित शहीद तिलका मांझी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर माल्यार्पण किया और उनके बलिदान को याद किया। आउटडोर स्टेडियम में हुए बैठक में संघठन के आगे की रणनीति पर चर्चा किया गया। दुशरी ओर जिला कांग्रेस कमिटी महासचिव महेश राम चंद्रवंशी के नेतृत्व में विश्व आदिवासी दिवस मनाया गया। कोंग्रेसियों ने शहर के पोखड़ा चौक स्थित सिधो कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर आदिवासी वीर योद्धाओं को याद किये । मौके पर संजीत सिंह, राजा मरांडी, सत नारायण यादव, अली इमाम टिंकू सरोज शेख, छबि बागची, विलियम टूडू, राशिद इमाम, अमर आर्चर टुडू, योगानंद सरकार, निर्मल कुमार गण, मजीद अंसारी, भगवान भगत, श्याम सुंदर भगत, पौलुस मुर्मू, रवि फ्रैंकलीन टूडू, मतला मुर्मू, जोसेफ टुडू, विनोद कुमार साह, राम कुमार साह, दशरथ मंडल, कुंदन यादव, अविनाश यादव, संतोष सिंह, सौरभ सिंह, मिट्ठू यादव, अमित कुमार, चरण हेंब्रम, पप्पू अंसारी, प्रीति प्रिया, मेघा मीनल आदि मौजूद थे। आजसू पार्टी के कार्यालय में भी विश्व आदिवासी दिवस मनाया गया। मौके पर सूजीत मूर्मू, अजय कुमार, ग्वालियर हंसदा, सुनील टूडू, प्रधान बेसरा, मनोज सिंह मेलर, रमेश मंडल, जय देव मंडल, अजय कुमार साह, मिथिलेश वर्मा, संतोष शर्मा आदि मौजूद थे।


रानेश्वर में भी विश्व आदिवासी दिवस पर सोमवार को झारखण्ड आदिवासी युवा मोर्चा द्वारा जीवनपुर मोड़ के समीप स्थित सिदो कान्हु मुर्मू के मूर्ति पर माल्यार्पण किया गया। कार्यक्रम में संरक्षक सैलेन किस्कु, सचिव जीसू बास्की, अध्यक्ष अगेस्टेन हेम्राम एवं सदस्य महेंद्र सोरेन, जयधन टुडू, सहदेव सोरेन, सुजान सोरेन, विन्दु मराण्डी, रामलाल हॉसदा, दिलीप हेम्ब्रम आदि उपस्थित थे। काठीकुण्ड निज संवाददाता के मुताबक प्रखंड के बड़तल्ला पंचायत के ग्राम प्रधान एवं ग्रामीणों ने सिद्धो कान्हू मुर्मू का प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।


कैमरे की नजर में उपराजधानी में विश्व आदिवासी दिवस


गोपीकांदर में विश्व आदिवासी दिवस पर गुमामोड़ में स्तिथ सिदो-कान्हू के प्रतिमा पर आजसू कार्यकर्ताओं ने माल्यार्पण किया। कार्यक्रम में आजसू पार्टी के प्रखंड अध्यक्ष मिथुल कुमार दास, महिला मोर्चा अध्यक्ष इग्नेशिया हांसदा, छात्र मोर्चा अध्यक्ष समीर मरांडी, प्रखंड सचिव प्रवीण राय आदि ने माल्यार्पण किया। मौके पर दर्जनों युवती और महिलाओं ने आजसू पार्टी का दामन थामा। सरैयाहाट निज संवाददाता के मुताबिक विश्व आदिवासी दिवस पर सरैयाहाट में मांझी हाड़ाम और आदिवासी बुद्धिजीवी वर्ग द्वारा कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में आदिवासी समाज द्वारा पुनः जल, जंगल और जमीन को बचाने के लिए एक हूल की जरूरत पर बल दिया गया। माझी हाड़ाम अनिल बेसरा व मनीश्वर मुर्मू के द्वारा आदिवासी दिवस लिखा टी-शर्ट का वितरण किया गया। कार्यक्रम में मुखिया बसंती मुर्मू, हरिलाल हाँसदा, सुखलाल सोरेन, डॉ विजय हाँसदा, नेल्सन सोरेन, सीताराम मुर्मू, परमेश्वर सोरेन, ढेना सोरेन, देवनारायण हाँसदा, महाशय मरांडी आदि शामिल हुए।

53 views0 comments