बार एसोसिएसन के अध्यक्ष बने विजय सिंह ,छह बार महासचिव रहे सुबोध चंद्र मंडल चुनाव हार गए


96 वोटों से राघवेन्द्र नाथ पाण्डये को हराकर महासचिव बने राकेश यादव

दुमका । छह बार दुमका बार एसोसिएUसन के महासचिव रहे सुबोध चंद्र मंडल बुरी तरह से चुनाव हार गये हैं। वह न केवल चुनाव हारे हैं बल्कि तीसरे स्थान पर पिछड़ गये हैं। राकेश कुमार यादव महासचिव निर्वाचित हुए हैं। संघ के नए महासचिव राकेश कुमार यादव इससे पहले वर्ष दो बार उपाध्यक्ष रह चुके हैं। यादव ने पूर्व महासचिव राघवेन्द्र नाथ पाण्डेय को 26 वोटों के अंतर से हरा दिया है। अध्यक्ष पद पर विजय कुमार सिंह निर्वाचित हुए हैं। उन्होंने 2015 के तरह सत्यनारायण भगत को 96 मतों के बड़े अंतर से हरा दिया है। रविवार को 14 राउंड चली मतगणना के बाद विजय कुमार सिंह 230 और राकेश यादव 134 मत लाकर विजयी हुए। वहीं 177 मत लाकर कमल किशोर झा उपाध्यक्ष, 137 मत लाकर विमलेंदु कुमार कोषाध्यक्ष, 171 मत लाकर प्रदीप कुमार सहायक कोषाध्यक्ष, 283 मत लाकर सोमनाथ दे संयुक्त सचिव (प्रशासनिक) व 210 मत लाकर रामफल लायक संयुक्त सचिव (लाइब्रेरी) बने है। संयुक्त सचिव (प्रशासन) पद पर सोमनाथ दे और संयुक्त सचिव (लाइब्रेरी) रामफल लायक फिर से निर्वाचित हुए हैं। मतगणना कार्य सुबह 11 बजे सहायक राजेंद्र प्रसाद सिन्हा व राजा खान के देखरेख में शुरू हुआ। 14 राउंड गिनती के बाद विजेता प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की गई। पहले राउंड से अध्यक्ष पद के प्रत्याशी विजय कुमार सिंह और सचिव राकेश यादव ने जो बढ़त बनाई, वह अंतिम राउंड तक कायम रही। परिणाम की घोषणा के बाद समर्थकों ने विजयी प्रत्याशियों को फूलमाला पहना कर उन्हें बधाई दी।

मजबुत बार का हुआ है चुनाव: विजय कुमार सिंह

दुमका। नव निर्वाचित अध्यक्ष विजय कुमार सिंह ने कहा कि चुनाव बहुत ही रोचक रहा। एक मजबुत बार की जरूरत थी और सारे विवादों को दरकिनार करते हुए अधिवक्ताओं ने यह परिणाम दिया है। जो उत्तरदायित्व उन्हें दिया है, उसे निभाने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण अधिवक्ताओं का विकास बाधित हो गया था। अब कोरोना काल खत्म हो गया है इसलिए अधिवक्ताओं के विकास के लिए काम किया जायेगा। बहुत सारे काम लंबित पड़े हैं जिसे पूरा किया जायेगा। आरडी को पुनः चालु करने का प्रयास किया जायेगा।

बार एसोसिएसन की कमियों को दूर करेंगे: राकेश कुमार

दुमका। नव निर्वाचित महासचिव राकेश कुमार ने कहा कि बार एसोसिएसन के सदस्यों के उम्मीद के मुताबिक बार का आनेवाले दिनों में चहुमुखी विकास किया जायेगा। व्यवहार न्यायालय के साथ ही डीसी कोर्ट, कमीश्नर कोर्ट और सेटलमेंट में मिलजुलकर सुचारू रूप से काम हो। जहां भी भ्रष्टाचार है उसे मिटाने का प्रयास करेंगे। बार एसोसिएसन में जो भी कमियां और मूलभुत सविधाओं का अभाव है, उसे अगले दो सालों में दूर किया जायेगा। उन्होंने कहा कि युवा अधिवक्ताओं सहित सबों ने उनका साथ दिया है। उपाध्यक्ष के तौर पर दो टर्म काम करने का उनका अनुभव रहा है। पहली बार उन्हें प्रमुख पद की जिम्मेवारी सौंपी गयी है, वह अधिवक्ताओं के उम्मीदों पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करेंगे।

प्रत्याशी और उन्हें मिला कुल मत


अध्यक्ष

1. विजय कुमार सिंह -230

2. सत्यनारायण भगत- 106

3. आखिलेश्वर अखिल-29

महासचिव

1. राकेश कुमार-134

2. राघवेन्द्र नाथ पांडेय -108

3. सुबोध चंद मंडल -71

4. जयंत सिन्हा -41

5. अनिल झा -13

उपाध्यक्ष

1. कमल किशोर झा- 177

2. शशांक शेखर भुई- 66

3. मुरलीधर जायसवाल- 63

4. नीलकंठ झा- 55

कोषाध्यक्ष


1. विमलेंदु कुमार- 137

2. कोमोद झा- 92

3. महादेव महतो- 76

4. लाला ज्ञान प्रकाश- 76

सहायक कोषाध्यक्ष

1. प्रदीप कुमार- 171

2. पंकज यादव- 163

संयुक्त सचिव (प्रशासन)

1. सोमनाथ दे- 283

2. प्रदीप कुमार- 73

संयुक्त सचिव (लाइब्रेरी)

1. रामफल लायक- 210

2. सुदेश कुमार सिंह-158

कार्यकारिणी सदस्य

1. प्रवीर कुमार दुबे- 241

2. वीणा सिंह- 218

3. रेखा प्रसाद- 215

4. विभूति झा-213

5. संजय झा- 196

6. राजकुमार गुप्ता- 179

7. त्रिपुरारी कुमार- 179

8. समंत साहा- 168

9. धनंजय झा- 152

10. महेंद्र साह- 147

11. भोला चौधरी- 122

12. चंद्रा गुप्ता- 120

13. सुरेश भगत- 103

14. रविद्र कुमार- 79


498 views0 comments