तीन से चार लोगों ने की है गोड्डा के प्रियंका की हत्या


पुलिस को डंगालपाड़ा के पांचु यादव पर शक

दुमका। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बेदिया जंगल में सोमवार को मिली गोड्डा की युवती प्रियंका कुमारी की हत्या तीन से चार लोगों ने की है। पुलिस इस मामले की तह तक पहुंच चुकी है। हत्या में उसके पति विकास केवट का हाथ नहीं है क्योंकि वह चोरी के एक मामले में एक माह से जेल में बंद है। चार युवकों में डंगालपाड़ा के ग्वालापाड़ा में रहने वाला पांचू यादव भी शामिल है। फरार पांचू पर दबाव बनाने के लिए मंगलवार को पुलिस ने उसके पिता शंकर यादव को थाना लाकर पूछताछ की।


मंगलवार को डाक्टर की तीन सदस्यीय टीम ने शव का पोस्टमार्टम किया। पुलिस को अनुसंधान के क्रम में पता चला कि युवती की हत्या में तीन से चार लोग शामिल हैं। युवती ने जिस विकास केवट से शादी की थी, उसे एक माह पहले ही नगर थाना की पुलिस ने चोरी में जेल भेजा था। वह अभी तक जेल में हैं। विकास की युवती से दोस्ती थी और उसके कहने पर ही 14 सितंबर को युवती शादी की नीयत से घर से भागी थी। स्वयं युवती ने कई बार नाना नंद लाल कापरी को फोन कर बताया कि वह विकास के साथ है। पूछताछ में मृतका के नाना ने पुलिस को बताया कि नातिन विकास से खूब बात करती थी। कई बाद मिलने के लिए दुमका आई।


विकास और पांचू में भी दोस्ती थी। कहीं ऐसा तो नहीं युवती पांचू के कहने पर जंगल में गई हो। पांचू के हत्या में शामिल होने की बात सामने आने के बाद मंगलवार को पुलिस ने उसके घर पर दबिश दी लेकिन उसके नहीं मिलने पर पिता शंकर यादव को साथ ले आई। जानकारी के मुताबिक पांचू अपराधिक किस्म का युवक है। पांच माह पहले रिग रोड में वाहन पासिग को लेकर दो पक्ष में हुई मारपीट में वह शामिल था। उसे इस केस में आरोपी नहीं बनाया गया था। कयास लगाया जा रहा है कि पांचू ने ही अपने कुछ दोस्तों के साथ मिलकर गला दबाकर मार डाला।



516 views0 comments