दुमका में अभियंता ने फांसी लगा कर आत्महत्या की

नगर थाना क्षेत्र के दुधानी स्थित पुराने एएन कालेज परिसर में किराए के मकान में रहने वाले सुजीत चंद्र दे (31 वर्ष) ने गुरूवार को फांसी लगाकर लगाकर जान दे दी। शाम में नगर थाना की पुलिस ने शव कब्जे में लिया। मृतक बोकारो जिले के पेटसार थाना क्षेत्र के ग्राम लुकैया का रहने वाला था और रांची की निजी कंपनी बीपी कंस्ट्रक्शन में इंजीनियर था। उनकी देखरेख में शहर के कड़हरबील स्थित एग्रो पार्क में आडिटोरियम का निर्माण चल रहा था। शुक्रवार को शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। मृतक की 07 जुलाई को जैनामोड़ में उपासना कुमारी के साथ शादी हुई थी। मृतक के साथ दूसरे कमरे में रहने वाले सहयोगी भागलपुर निवासी विवेक कुमार ने बताया कि वह चार माह और सुजीत एक साल से कंपनी के लिए काम कर रहे थे। सुजीत उसका सीनियर था। उनकी देखरेख में ही आडिटोरियम का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। शादी करने के बाद वह 04 अगस्त को वापस आए थे। गुरूवार की सुबह आठ बजे सुजीत ने विवेक से कहा कि वह जाकर काम देख ले। दोपहर बाद वह भी आ जाएगा। दोपहर को कंपनी कार्यालय से फोन आया है कि सुजीत फोन नहीं उठा रहा है। उसने भी फोन किया लेकिन नहीं उठाया। इसके बाद दो पर्यवेक्षक सचिन व लक्ष्मण लाल को घर भेजा। दोनों ने जाकर देखा तो उनका शव पंखे से चादर के सहारे झूल रहा था। सूचना के बाद नगर थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और शव उतरवाकर कब्जे में लिया। विवेक ने पुलिस को बताया कि चार-पांच दिन से सुजीत कह रहा था कि उसका यहां मन नहीं लग रहा है। वह घर जाना चाहते थे। जाने के लिए कहा कि लेकिन काम अधिक होने की वजह से नहीं जा पाए। अवर निरीक्षक छेदी खान ने बताया कि मृतक के पिता धनेश्वर महतो को सूचित कर दिया गया है। उनके आने के बाद ही मामला दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।




802 views0 comments