भारत को ओलम्पिक में गोल्ड,हरियाणा के किसान परिवार के लड़के ने कर दिया कमाल


टोक्यो ओलंपिक में नीरज चोपड़ा ने हिंदुस्तान को पहला गोल्ड मेडल दिला दिए है । आज पूरा देश उनपर नाज कर रहा है. उन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन से पूरे देश को ही नहीं रोमांचित कर दिया. नीरज शुरू से ही आगे चल रहे थे और अंत तक आगे


हरियाणा के एक किसान परिवार से हैं नीरज


हरियाणा के पानीपत जिले के खांद्रा गांव में एक छोटे से किसान के घर पर 24 दिसंबर 1997 को नीरज का जन्म हुआ था. नीरज ने अपनी पढ़ाई चंडीगढ़ से की. नीरज ने 2016 में पोलैंड में हुए IAAF वर्ल्ड U-20 चैम्पियनशिप में 86.48 मीटर दूर भाला फेंककर गोल्ड जीता था, जिसके बाद उन्हें आर्मी में जूनियर कमिशन्ड ऑफिसर के तौर पर नियुक्ति मिली थी.


आर्मी से जॉब मिलने के बाद नीरज ने एक इंटरव्यू में कहा था, "मेरे पिता एक किसान हैं और मां हाउसवाइफ हैं और मैं एक ज्वॉइंट फैमिली में रहता हूं. मेरे परिवार में किसी की सरकारी नौकरी नहीं है. इसलिए सब मेरे लिए खुश हैं." उन्होंने आगे कहा था, "अब मैं अपनी ट्रेनिंग जारी रखने के साथ-साथ अपने परिवार की आर्थिक मदद भी कर सकता हूं."



49 views0 comments