top of page

भारी बारिश ने किसानों के आंखों में लाया आंसु , खेतों में फसल हुई नष्ट


दुमका। मसलिया प्रखंड क्षेत्र अंर्तगत बास्कीडीह पंचायत के बरमसिया व आस्ताजोडा के किसानों को चक्रवाती तूफान से खासा नुकसान उठाना पड़ा है। इन मौजो के किसान बारह महीनें विभिन्न तरह के फसल उगाकर रोजी रोटी का जुगाड़ करते हैं। गुलाबी चक्रवाती तूफान व वर्षा में किसानों के उगाई गोभी, टमाटर के जैसे फसलों में खासा क्षति पहुंचाई है। उगाई हुई फसल के नुकसान को देख किसान काफी चिंतित है। किसान रोहित पंडित का पचास कट्ठा जमीन में लगा 1500 गोभी, उत्तम पंडित दो बिघा जमीन में लगा 1200 गोभी, मनोज पंडित के दस कट्ठा खेत मे लगा 6000 गोभी, हलधर पंडित के 6000 गोभी, अजीत पंडित के 10000 गोभी, रामू पंडित एक बिघा में लगा 8000 गोभी, मनभरन के 15 कट्ठा में लगा 600 गोभी, शिबू पंडित का 10 कट्ठा में लगा 4000 गोभी, भीम पंडित का 50 कट्ठा में 16000 गोभी तथा तीन बीघा जमीन में लगी टमाटर कि खेती नष्ट हो गयी है।


उत्तम पंडित ने बताया कि लाखों खर्च कर उन्होंने फसल लगाया था। फसल बर्बाद होता देख आँखों से आँसू आ गया। फ़सल के नष्ट हो जाने से दुर्गा पूजा की खुशी गम में तब्दील हो गया है। इतनी बड़ी जमीनों में उगाई किसानों की फसल का नष्ट होना वास्तव में एक गंभीर चिंता की विषय है। किसान कर्ज में डूब गए है। सरकार से इन मौजों के किसानों ने मुआवजे की मांग की है।


61 views0 comments

Comentários


Post: Blog2 Post
bottom of page