top of page

दुमका पुलिस लाईन मैदान झंडोत्तोलन करने ट्रेन से पहुंचेंगे राज्यपाल


दुमका। राज्यपाल रमेश बैस सोमवार की सुबह रांची-दुमका इंटरसिटी ट्रेन से दुमका पहुंचेंगे। उनके लिए ट्रेन में अलग से एक विशेष सैलून लगाया गया है। ट्रेन से उतरने पर दुमका रेलवे स्टेशन के बाहर उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया जायेगा और फिर वे वह से राजभवन जाएंगे। राज्यपाल सोमवार की सुबह 9 बजे दुमका के पुलिस लाईन मैदान में आयोजित राजकीय स्वतंत्रता दिवस समारोह में परेड का निरीक्षण करने के बाद राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे, तिरंगे को सलामी देंगे और जनता को संबोधित करेंगे।


कोरोना के कारण तीसरे साल भी नहीं हुआ एट होम व सांसकृतिक कार्यक्रम

कोरोना के कारण लगातार तीसरे वर्ष स्वतंत्रता दिवस के पूर्व संध्या पर आयोजित किये जाने वाला राज्यपाल का एट होम कार्यक्रम का आयोजन नही हो रहा है। साथ ही इंडोर स्टेडियम मे होने बाला सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी इस बार नहीं किया गया है।



पहली बार ऐसा हो रहा जब आयोजन के दिन ही दुमका पहुँच रहे हैं राज्यपाल

ऐसा पहली बार हुआ है जब राज्यपाल स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पूर्व अपने के बजाय उसी दिन आ रहे हैं। राज्यपाल के आगमन और झंडोत्तोलन कार्यक्रम को लेकर रविवार को उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला एवं एसपी अंबल लकड़ा ने आयोजन स्थल पुलिस लाईन मैदान में अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें ब्रीफ किया। उपायुक्त ने कहा कि हो सकता है कि रांची-दुमका इंटरसिटी एक्सप्रेस 7.20 बजे सुबह दुमका स्टेशन पहुंचे। ऐसे में राज्यपाल को गार्ड ऑफ ऑनर दिये जाने के समय अन्य अधिकारी अपनी गाड़ियों में बैठ कर तैयार रहेंगे ताकि राज्यपाल को लेकर राजभवन जाने में विलंब नहीं हो। पहले से यह तय कर लिया जाये कि किस गाड़ी को राजभवन जाना है, किसे सर्किट हाउस और होटल जाना है और उसी के अनुरूप व्यवस्था की जाये। 7.50 बजे तक राज्यपाल का काफिला राजभवन पहुंच जायेगा। डीसी ने कहा कि राज्यपाल, उनका परिवार और राजभवन से साथ आनेवाले अधिकारी स्नान करने के बाद तैयार होंगे और नाश्ता कर पुलिस लाईन मैदान के लिए निकल जाएंगे। इसलिए गर्म पानी की पहले से व्यवस्था हो और नाश्ता भी तैयार रहे। उन्होंने कहा कि राजभवन में राज्यपाल द्वारा सुबह 8.30 बजे झंडोत्तोलन करने के बाद 8.40 बजे तक उन्हें लेकर रवाना हो जाना है ताकि 8.50 बजे तक राज्यपाल का पुलिस लाइन मैदान में आगमन हो सके। उन्होंने कहा कि हर हाल में राज्यपाल के हाथों सुबह 9 बजे से 9.05 बजे तक ध्वजारोहन कर दिया जाये, इसके लिए आपस में समन्वय बना कर काम करने की जरूरत है। बारिश के कारण न तो आयोजन स्थल पर कोई बांस गिरे और न पानी गिरे, इसके लिए भवन निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता को फिर से आयोजन स्थल का सर्टिफिकेशन कर रिपोर्ट देने को कहा। उन्होंने बिना आवाज वाले चार अतिरिक्त पंखों की भी मंच के पास व्यवस्था कर रखने को कहा। डीसी ने कहा कि कार्य़क्रम के समापन राज्यपाल और उनका परिवार वहां लंच करेगा, उसकी भी व्यवस्था ठीक से कर ली जाये। बैठक में डीडीसी कर्ण सत्यार्थी, एसडीओ महेश्वर महतो, डीटीओ पी बारला, एसी विनय मनीष लकड़ा, एसडीपीओ नूर मुस्तफा, डीएसपी विबजय कुमार एव अन्य अधिकारी मौजूद थे।



















174 views0 comments

Comments


Post: Blog2 Post
bottom of page