लगातार दूसरे दिन भी लोगों ने की धनतेरस की खरीददारी,पटाखे की दुकान पर उमड़ी भीड़



दुमका। दीपावली के एक दिन पूर्व मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की प्रतिमाओं के साथ उनके पूजन और घर, दुकान व प्रतिष्ठानों के लिए फूलों की जमकर खरीददारी हुई। बुधवार को भी लोगों ने धनतेरस के लिए खरीददारी की। धनतेरस को लेकर फर्नीचर, इलेक्ट्रोनिक, ऑटो सेक्टर, बर्तन आदि के दुकानों पर लगातार दूसरे दिन लोगों की भीड़ देखी गयी। दीपावली को लेकर पूजन सामग्रियों, सजावटी सामग्रियों और मिठाइयों की भी खूब खरीददारी की गयी। बुधवार को छोटी दीपावली के लिए भी धनतेरस की तरह तमाम बाजारों में व्यापक तैयारियां की गई थी। उपहार की दुकान हो या मिठाई के प्रतिष्ठान, हर जगह ग्राहकों की भीड़ लगी रही। इलेक्ट्रानिक व इलेक्ट्रिक बाजार भी रौनक छाई रही। लड्डू के अलावा तरह-तरह की मिठाईयों की भी खासी डिमांड है क्योंकि लोग मिठाईयों का डिब्बा शुभकामना के तौर पर देते हैं। नामी कंपनियों के आकर्षक पैक में चाकलेट, गुलाब जामुन व रसगुल्लों की भी जमकर बिक्री हो रही है। केक दुकानों में भी भीड़ देखी गयी। फलों व सब्जियों पर भी महगाई का असर है। लेकिन बिक्री में कमी नहीं आ रही है। जिला व पुलिस प्रशासन ने दीपावली को देखते हुए सुरक्षा और ट्रैफिक कंट्रोल के कड़े इंतजाम किये है। शहर के सभी प्रमुख बाजारों में प्रत्येक चौक चौराहों के अलावा भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

पटाखा दुकानों में उमड़ी भीड़

दुमका। बुधवार को यज्ञ मैदान में लगाये गये पटाखा दुकानों में खासी भीड़ देखी गयी। पटाखों के आईटमों पर कई गुना अधिक दर एमआरपी के रूप में लिखा हुआ पाया गया जिस कारण ग्राहक जहां मोल मोलाई करते देखे गये। थोक और खुदरा मूल्यों में भारी अंतर के कारण दुकानदारों ने बड़ा मुनाफा कमाया। जिस आईटम का दाम थोक मार्केट में महज 300 रुपये हैं उसके डिब्बे पर अधिकतम खुदरा मूल्य 2550 रुपये छपा हुआ है।

पांच पर्वों का महोत्सव है दीपावली

दुमका। दीपों का त्यौहार दीपावली पांच पर्वों का महोत्सव है क्योंकि इसे पांच दिनों तक निरंतर अलग-अलग रूप में मनाने की परंपरा है। 02 नवम्बर को धनवंतरि त्रयोदशी से शुरू हुआ यह पंच पर्व 06 नवम्बर भैयादूज तक मनाया जाएगा। इन पांच दिनों की पर्व श्रृंखला में 03 नवम्बर को नरक चतुर्दशी, नरक चौदस या छोटी दीवाली, 04 नवम्बर को दीपावली, 05 नवम्बर को गोवर्धन पूजा एवं 06 नवम्बर को भैया दूज यानी यम द्वितीया मनाई जा रही है।






39 views0 comments