दुमका में सरकारी जमीन का अतिक्रमण कर बनाया पांच मंजिला इमारत


दुमका शहर के बांधपाड़ा मोहल्ले में सरकारी सार्वजनिक गली का अतिक्रमण कर खतरनाक तरीके से पांच मंजिला भवन बनाने का मामला प्रकाश में आया है। नगर परिषद से बिना नक्सा पास करवाये बनाया गया यह बिल्डिंग इसकदर झूकी हुई है कि उससे सटे मकान के गृहस्वामी दहशत में हैं कि यह बिल्डिंग उनके घर पर ही गिर जायेगी। गृहस्वामी शिव कुमार गुप्ता ने सरकारी गली को अतिक्रमण मुक्त करवाने और बिना नक्सा पारित कर पांच मंजिला भवन निर्माण करने के मामले में नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को एक आवेदन सौंपा है।

कार्यपालक पदाधिकारी ने इस मामले में टाउन प्लानर नजीबुल्लाह अंसारी उर्फ रहमान से स्पष्टीकरण पूछा है कि आखिर नियम विरूद्ध उस स्थल पर जी प्लस फोर भवन कैसे बना लिया गया और उसपर क्या कार्रवाई की गयी है। इसके अलावा 27 अक्टूबर को दूसरे पक्ष के सुमन साह, मोहन साह और प्रेम साह को नोटिस दिया गया है कि उन्होंने वार्ड नंबर 11 में बाधपाड़ा मोहल्ले में मौजा दुमका टाउन नं. 7, दाग नं. 348 में गली का अतिक्रमण कर गली में छत निकाल कर निर्माण कार्य कराया है, वे सात दिनों के अंदर अपना पक्ष कार्यपालक पदाधिकारी के समक्ष रखें। प्रथम पक्ष हिशव कुमार गुप्ता को भी गली में छज्जा निकालने और छत को बढ़ाने को लेकर नोटिस दिया गया है और पक्ष रखने को कहा गया है।

अपने आवेदन में शिव कुमार गुप्ता ने बताया कि बांधपाड़ा में स्थित दाग नंबर 348 गैर मजरूवा मालिक कहकर खसरा पंजी में दर्ज है जो कि एक सार्वजनिक गली है। इस सार्वजनिक गली को दो भाईयों सुमन साह और मोहन साह के द्वारा अतिक्रमण कर अवरूद्ध कर दिया गया है। गली के दूसरे छोर पर ईंट का दीवार देकर अपना मकान बनाकर गली पर कब्जा कर लिया है। अतिक्रमण कर गली के उपर पांच मंजिला मकान बनाने से उनके घर में रौशनी व हवा का प्रवेश बंद कर दिया है। यह भी बताया गया है कि दोनों भाईयों के द्वारा नगर परिषद से बिना नक्सा पास करवाये पांच मंजिला भवन बनाया गया है जिसपर अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गयी है। उन्होंने गली को अतिक्रमण मुक्त करने और आम आदमी का आवागमन सुचारू रूपसे कराने की गुहार लगायी है।

प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी प्रशिक्षु आईएएस दीपांकर चौधरी ने टाउन प्लानर रहमान से पूछा है कि उस स्थल पर जी प्लस फाईव बिल्डिंग कैसे बन गया है जिसका प्रावधान ही नहीं है। उन्होंने अतिक्रमण को लेकर दुमका सीओ से रिपोर्ट मांगी है और नगर परिषद द्वारा किये गये जांच की रिपोर्ट शिव कुमार गुप्ता को उपलब्ध करवाने को कहा है ताकि वह नोटिस का जवाब दे सकें। बावजूद इसके गुप्ता को अबतक जमीन की जांच रिपोर्ट उपलब्ध नहीं करवायी गयी है।



454 views0 comments