top of page

दुमका के लिए तैयार किया जाएगा सिटी डेवलपमेंट प्लान : बसंत सोरेन


दमका । विधायक बसंत सोरेन ने कहा कि जिले को उपराजधानी के स्तर से सजाने की प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है. दुमका को झारखंड के बड़े शहरों के समान तैयार करने की रूपरेखा पर लगातार कार्य किया जा रहा है. आने वाले समय में दुमका जिला के लोगों के सोच के अनुरूप सारी सुविधाओं के साथ सजाया जाएगा. इसके लिए हमने जो सपना देखा है उसके मुताबिक काम को आगे बढ़ाने के लिए सिटी डेवलपमेंट प्लान तैयार किया जाएगा. शहर को व्यवस्थित, सुंदर, सुविधाजनक व निवेश योग्य बनाने के लिए हर संभव प्रयास जारी है. विधायक के तौर पर अपने एक साल पूरे होने और झारखंड राज्य के 21 वें स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर उन्होंने बातचीत में कहा कि विगत दिनों में कोविड महामारी के कारण विकास कार्यों में बाधा जरूर उत्पन्न हुआ है, परंतु आज के समय में शासन-प्रशासन द्वारा मिशन मोड पर कार्य किया जा रहा है. फलस्वरूप चीजे धरातल पर उतरनी शुरू हो गयी है.


गांव को खुशहाल बनाये बिना हम शहर का पूर्ण विकास नहीं कर सकते


विधायक श्री सोरेन ने कहा कि मसलिया दुमका के कई इलाके सिंचाई की सुविधा से वंचित है, इस क्षेत्र के लोगों ने डैम के लिए अपना जमीन खोया था. हम कैसे उन्हें सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराएं इस पर मंथन किया जा रहा है, इस इलाके को वृहद सिंचाई योजना से आच्छादित करेंगे. ग्रामीणों के कल्याण के लिए पूर्व की तमाम सरकार ने अनेक योजनाएं बनाई है, लेकिन यह भी एक सच्चाई है सभी ग्रामीण क्षेत्रों तक इन योजनाओं का लाभ नहीं पहुंच पाया है. हेमंत सरकार ग्रामीणों को योजनाओं से लाभान्वित करवाने के लिए प्रयासरत है. इन्हीं कड़ी में वंचितों को ग्रीन राशन, सामाजिक सुरक्षा पेंशन तथा सोना सोबरन योजना के तहत धोती-साड़ी व लुंगी प्रदान किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार-स्वरोजगार से जोड़ने की भी पहल की जायेगी.


तलाशी जा रही पर्यटन की संभावनायें, हिजला से हो चुकी शुरूआत

जनजातीय कला-संस्कृति के उत्थान और क्षेत्र में पर्यटन विकास की संभावनाएं तलाशी जा रही है. इसके लिए हिजला में 6 करोड़ रुपये के विकास कार्य की नींव रखी जा चुकी है, जबकि मसलिया के गढ़द्वारा डैम और गुमरो पहाड़ के सौंदर्यीकरण और पर्यटन विकास को लेकर प्रस्ताव तैयार कराए जा रहे हैं. मसानजोर दुमका का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है, पर वहां अभी तक जरूरी बुनियादी सुविधाएं पर्यटकों के लिए उपलब्ध नही है. इस दिशा में जहां इसके रास्ते में एक पुल के एप्रोच तैयार करने में उत्पन्न अवरोध को दूर कराया गया है, वहीं मसानजोर के गेस्ट हाउस की मरम्मती करायी जा रही है. फूड कोर्ट का निर्माण कराया जा रहा है.पर्यटन के विकास से स्थानीय लोगों को रोजगार के बेहतर अवसर मिल सकेंगें. आनेवाले समय मे यहां पर्यटकों को हम इतनी सुविधाएं मुहैया कराएंगे, जिससे यह जगह उनकी पहली पसंद बने और वे बार-बार आने को आतुर दिखे.


2022 का लक्ष्य. गांवों में शुद्ध पेयजल व आवागमन सुविधा सुदृढ़ करने की


2022 में हमारा लक्ष्य दुमका विधानसभा क्षेत्र के सभी गांवों में शुध्द पेयजल और आवागमन के बेहतर साधन के लिए बेहतर सड़क बनाने की रहेगी. बच्चों को बेहतर शिक्षा मिले, इसके लिए हमने आंगनबाड़ी केंद्रों से लेकर हाई स्कूलों का परिदृश्य बदलने का काम शुरू कराया है. कोशिश है कि आंगनबाड़ी केंद्र और स्कूल मॉडल बने और सरकारी संस्थान निजी शिक्षण संस्थान की तुलना में अधिक सुविधा युक्त हो. आगामी सत्र से दुमका के नवनिर्मित मॉडल कॉलेज में नए नए कोर्स के विकल्प के साथ पढ़ाई आरंभ करा दी जाएगी. शिक्षा के लिए शहर में बेहतर पुस्तकालय भी होना जरूरी है. दुमका में राज्य का सबसे पुराना राजकीय पुस्तकालय है, जिसे संवारा जा रहा है. वह दिन दूर नही होगा, जब यह लाइब्रेरी पूर्णतः ऑटोमेशन मॉड में संचालित होगा. इससे बेहतर शैक्षणिक माहौल बनेगा. पुस्तकप्रेमियों को भी सहुलियत होगी.



193 views0 comments

Yorumlar


Post: Blog2 Post
bottom of page